स्मार्ट इंडिया हैकथॉन ग्रैंड फिनाले 25 से 29 अगस्त 2022

स्मार्ट इंडिया हैकथॉन ग्रैंड फिनाले 25 से 29 अगस्त 2022

स्मार्ट इंडिया हैकथॉन विभिन्न मंत्रालयों और संस्थाओं द्वारा दी गई समस्याओं का समाधान ढूंढने की सशक्त पहल
स्मार्ट इंडिया हैकथॉन - स्टार्टअप इंडिया और मेक इन इंडिया को बल मिलेगा - युवाओं में लीक से हटकर नया सोचने की संस्कृति विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका - एडवोकेट किशन भावनानी
गोंदिया - वैश्विक स्तरपर डिजिटल इंडिया, नया भारत का रुतबा शिद्दत से बढ़ते जा रहा है क्योंकि आज हर स्तरपर चाक-चौबंद नीतियां, रणनीतियां बना कर तुरंत प्रक्रिया में लाया जा रहा है। नए नए नियम अधिनियम और वर्तमान कानूनों को संशोधित कर सुविधा सुलभ पूर्वक प्रोविजंस बनाए जा रहे हैं, ऑनलाइन व्यवहार पर जोर दिया जा रहा है ताकि पूर्ण पारदर्शिता लाई जा सके युवकों विद्यार्थियों के लिए लीक से हटकर नए नए आयाम लाए जा रहे हैं ताकि कुछ हटकर सोचने की संस्कृति को विकसित किया जा सके सभी मंत्रालयों की कुछ तकनीकी समस्याओं को एक मंच पर लाया जा रहा है और युवाओं छात्रों विद्यार्थियों को इन समस्याओं को कुछ नए तरीके, नई तकनीकी से समाधान करने के लिए लीक से हटकर सोचने पर प्रोत्साहित किया जा रहा है इसी कड़ी में स्मार्ट इंडिया हैकथॉन का उदय हुआ है और इसके पांचवें संस्कार ग्रैंड फिनाले का आयोजन 25 से 29 अगस्त 2022 तक किया जा रहा है, जिसमें 25 अगस्त 2022 को माननीय पीएम इसमें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रात्रि आठ बजेसंबोधन कर रहे हैं, इसलिए आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से इस पर विस्तृत चर्चा करेंगे।
साथियों बात अगर हम स्मार्ट हैकथॉन की करें तो यह एक पहल है जिसमें स्कूल और कॉलेज के छात्र विभिन्न भाग लेने वाले मंत्रालयों और विभागों के सामने आने वाली चुनौतियों और वास्तविक जीवन की समस्याओं को अपने आइडिया से हल करते हैं और सरकार की मदद करते हुए पुरस्कार जीतते हैं। चाहे हम स्कूली छात्र हों या उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे हों, अगर हमारे पास इनेवोशन आडिया सरकार को चुनौतियों का समाधान खोजने में मदद कर सकता है। स्मार्ट इंडिया हैकथन’ इस समय दुनिया का एक बहुत ही बड़ा नवाचार मॉडल बन चुका है, जिसमें लाखों छात्र छात्राएं भाग लेते हैं। विभिन्न मंत्रालयों और संस्थानों द्वारा दी गई समस्याओं के समाधान ढूंढते हैं। यह एक ऐसा माध्यम है जिससे स्टार्टअप इंडिया और ‘मेक इन इंडिया’ को बल मिलता है। इस इवेंट के दौरान पूरे देश भर में इनोवेशन का एक अलग ही माहौल रहता है।
साथियों बात अगर हम स्मार्ट इंडिया हैकथॉन(एसआईएच) विस्तार की करें तो, इसकी बढ़ती लोकप्रियता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि एसआईएच के लिए पंजीकृत टीमों की संख्या पहले संस्करण में लगभग 7500 से चार गुना बढ़कर वर्तमान में चल रहे पांचवें संस्करण में लगभग 29,600 हो गई है। इस वर्ष एसआईएच 2022 के ग्रैंड फिनाले में भाग लेने के लिए 15,000 से अधिक छात्र एवं संरक्षक 75 नोडल केन्द्रों पर पहुंच रहे हैं।इस फिनाले में 2900 से अधिक स्कूलों और 2200 उच्च शिक्षा संस्थानों के छात्र 53 केन्द्रीय मंत्रालयों द्वारा सामने रखी गई 476 समस्याओं का समाधान ढूढेंगे। इनमें मंदिर में उत्कीर्ण शिलालेखों एवं देवनागरी लिपि में उनके अनुवादों के ऑप्टिकल कैरेक्टर रिकॉग्निशन (ओसीआर), जल्द खराब होने वाले खाद्य पदार्थों की शीत आपूर्ति श्रृंखला में आईओटी आधारित जोखिम निगरानी प्रणाली, किसी इलाके के उच्च-रिज़ॉल्यूशन वाले 3डी मॉडल, आपदा प्रभावित क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे और सड़कों की स्थिति आदि से जुड़ी समस्याएं शामिल हैं।
साथियों बात अगर हम एसआईएच में भाग लेने की करें तो, स्मार्ट इंडिया हैकथॉन’ के इस पांचवें संस्करण में कई लाख बच्चों ने पहले चरण में अपने-अपने कॉलेजों में अपने-अपने विद्यालयों में भाग लेते हुए इस प्रतिस्पर्धा में भाग लिया था जिनमें से चुनिंदा छात्र-छात्राएं आगे के ग्रैंड फिनाले में भाग लें रहें हैं। लगभग 2033 टीम्स जिसमें 12000 के करीब छात्र-छात्राएं मिलजुलकर नए-नए समाधान का सुझाव देंगे। आजादी के 75वें अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में यह इवेंट 75 नोडल सेंटर 25 अगस्त से 29 अगस्त तक किया जा रहा है। हर संस्करण की तरह इस बार भी माननीय पीएम 25 अगस्त को रात्रि 8 बजे के आसपास प्रतिभागियों से वार्तालाप करेंगे। साल 2017 से हर साल स्मार्ट इंडिया हैकथॉन का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम के तहत हार्डवेयर ग्रैंड फिनाले 25 अगस्त से 29 अगस्त तक और सॉफ्टवेयर फिनाले 25 अगस्त से 26 अगस्त तक निर्धारित है। इस इवेंट के दौरान छात्र मेंटर्स और उद्योग/मंत्रालय के प्रतिनिधियों के मार्गदर्शन में काम करेंगे और चयनित समस्या का समाधान तैयार करेंगे।
साथियों इस इवेंट में हर समस्या के समाधान के लिए एक लाख रुपये के पुरस्कार राशि की घोषणा की गई है। वहीं, स्टूडेंट इनोवेशन कैटेगरी के तहत तीन पुरस्कार होंगे। टॉप तीन टीमों को क्रमश: एक लाख, 75, हज़ार और 50,हज़ार रुपये की पुरस्कार राशि दी जाएगी।
साथियों बात अगर हम एसआईएच के उद्देश्यों की करें तो यह इस इवेंट का पांचवां संस्करण है। इसका उद्देश्य छात्रों के बीच नवाचार के उत्पादन और समस्या समाधान की संस्कृति को विकसित करना है। इस इवेंट में देशभर के विभिन्न विश्वविद्यालयों और कैंपस के सैकड़ों छात्र हिस्सा लेंगे।
साथियों बात अगर हम एसआईएच और एआईआर के बीच समझौते की करें तोअखिल भारतीय तकनिकी शिक्षा परिषद और दूरदर्शन व आल इंडिया रेडियो के बीच ‘स्मार्ट इंडिया हैकथॉन’ 2022 के लिए मीडिया पार्टनरशिप को लेकर समझौता हस्ताक्षर हुआ। समझौता हस्ताक्षर एआईसीटीई के चेयरमैन दूरदर्शन के डायरेक्टर आकाशवाणी के डायरेक्टर जनरल ने किये।
अतः अगर हम उपरोक्त पूरे विवरण का अध्ययन कर उसका विश्लेषण करें तो हम पाएंगे कि स्मार्ट इंडिया का हैकथॉन ग्रैंड फिनाले 25 से 29 अगस्त 2022 तक जारी है स्मार्ट इंडियाहैकथॉन विभिन्न मंत्रालयों और संस्थाओं द्वारा दी गई समस्याओं का समाधान ढूंढने की सशक्त पहल है। स्मार्ट इंडिया हैकथॉन से स्टार्टअप इंडिया और मेक इन इंडिया को बल मिलेगा युवाओं में लीक से हटकर नया सोचने की संस्कृति विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका होगी।

About author

Kishan sanmukh

-संकलनकर्ता लेखक - कर विशेषज्ञ स्तंभकार एडवोकेट किशन सनमुखदास भावनानी गोंदिया महाराष्ट्र
Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url