अधिक कार्य कैसे करें!

 अधिक कार्य कैसे करें!

डॉ. माध्वी बोरसे!  विकासवादी लेखिका!  राजस्थान! (रावतभाटा

कभी-कभी, हम चाहते हैं कि दिन में और घंटे हों। दुर्भाग्य से, हम समय को नियंत्रित नहीं कर सकते। हम जो नियंत्रित कर सकते हैं वह हमारी उत्पादकता है। हम अपना समय कैसे व्यतीत करते हैं, इस बारे में सतर्क रहना दिन के दौरान और अधिक करने के लिए महत्वपूर्ण है। पहले उठना, ध्यान करना, दैनिक टू-डू सूचियां बनाना - हर मिनट का अधिकतम लाभ उठाने के कई तरीके हैं, पर सबसे महत्वपूर्ण तरीका क्या है आज आप इस में निबंध में पाएंगे!

आपने यह कहानी तो सुनी होगी,

एक बार की बात है, पीटर और जॉन नाम के दो लकड़हारे थे। अधिक लकड़ी काटने वाले को लेकर वे अक्सर आपस में भिड़ जाते थे। इसलिए एक दिन उन्होंने विजेता का निर्धारण करने के लिए एक प्रतियोगिता आयोजित करने का फैसला किया। नियम सरल थे - जो एक दिन में सबसे अधिक लकड़ी का उत्पादन करता है वह जीत जाता है।

तो अगले दिन सुबह, दोनों ने जंगल में अपनी पोजीशन ले ली और अपनी सबसे तेज गति से काटने लगे। पीटर के अचानक रुकने से पहले यह एक घंटे तक चला। जब जॉन ने महसूस किया कि उनके प्रतिद्वंद्वी की ओर से कोई काटने की आवाज नहीं आ रही है, तो उन्होंने सोचा की वह पहले ही थक गया होगा!" और वह दुगनी गति से अपने पेड़ों को काटता रहा।

एक चौथाई घंटे बीत गए, और जॉन ने अपने प्रतिद्वंद्वी को फिर से काटते हुए सुना। इसलिए दोनों एक साथ चलते रहे। जॉन को थकान महसूस होने लगी थी कि पीटर का काटना एक बार फिर बंद हो गया। प्रेरित और महक जीत को करीब से महसूस करते हुए, जॉन ने अपने चेहरे पर मुस्कान के साथ जारी रखा।

यह सिलसिला पूरे दिन चला। हर घंटे, पीटर पंद्रह मिनट के लिए काटना बंद कर देता था जबकि जॉन लगातार चलता रहता था। इसलिए जब प्रतियोगिता समाप्त हुई, तो जॉन को पूरा भरोसा था कि वह जीत हासिल करेगा।

लेकिन यूहन्ना को आश्चर्य हुआ कि पतरस ने वास्तव में और लकड़ी काट दी थी। ये हुआ भी कैसे? “तुम मुझसे ज्यादा पेड़ कैसे काट सकते थे? मैंने सुना है कि आप हर घंटे पंद्रह मिनट के लिए काम करना बंद कर देते हैं!", जॉन ने कहा।

पीटर ने उत्तर दिया, "ठीक है, यह वास्तव में सरल है। हर बार जब मैंने काम बंद किया, जब आप पेड़ों को काट रहे थे, मैं अपनी कुल्हाड़ी तेज कर रहा था। ”

अक्सर देखा गया है कि हम एक कार्य को ही बहुत देर तक करते रहते हैं, जब भी हम कोई कार्य कर रहे हैं और उस कार्य को करते करते हमें थकान महसूस होने लगे तो वह थकान नहीं एक तरह से तनाव, बोरियत या कह सकते हैं कि हम उस कार्य को करते करते उब गए हैं! अब हमें जरूरत है किसी दूसरे कार्य को करने की, जी आप बार-बार आराम करने की जगह यह भी कर सकते हैं कि उस कार्य को ना करते हुए, अपनी उर्जा को दूसरे कार्यों में लगाइए, आप कभी ब्रेक ले सकते हैं, कभी अपनी हॉबी या कभी दूसरा कार्य कर सकते हैं! 

हमारा मस्तिष्क एक ही कार्यों को कर करके अधिक थकान महसूस करता है, स्वयं को पूरे दिन उत्साहित और ऊर्जावान रखने के लिए बीच-बीच में कार्य को बदलते रहे, स्वयं पर दबाव देकर उस कार्य को उसी वक्त समाप्त करने की कोशिश ना करें! अगर आप तनाव के साथ कोई कार्य को करेंगे तो वह कार्य शीघ्र समाप्त होने की जगह देर से ही होगा और त्रुटि होने की संभावना ज्यादा है, इसलिए कभी-कभी तनाव महसूस करने के बाद, यह बहुत देर से एक ही कार्य को करने की जगह बीच-बीच में दूसरे कार्यों को करना जरूरी है!

हमें कोशिश करनी चाहिए, हमारा मस्तिष्क और शारीरिक रूप से व्यस्त रहना और फिर रात्रि तक थकना अत्यंत आवश्यक है अगर हम चाहते हैं कि हम चैन की नींद सो सके! अगर मानसिक और शारीरिक रूप से व्यस्त रहते हैं तो हम इसे और ज्यादा बेहतर बना सकते हैं!

आजकल ज्यादातर लोग या तो पूरे दिन मानसिक रूप से कार्य कर रहे हैं या तो शारीरिक रूप से! 

हम एक जगह तो बेहतर बनते जाते हैं पर वही दूसरा खो देते हैं!

हमारा मानसिक और शारीरिक रूप से विकास होना बराबर जरूरी है तभी हम कोई भी कार्य को बिना थके, ऊर्जावान होकर कर सकते हैं!

अगर आप कार्य को बदल नहीं सकते तो उसे करने का तरीका बदलिए, इससे भी और ऊर्जावान रह पाएंगे और अपने मस्तिष्क को पूर्ण रूप से उपयोग कर पाएंगे, बीच-बीच में शारीरिक गतिविधियों का होना बहुत आवश्यक है तो अगर हम कोई कार्य को वैसे भी कर सकते हैं तो जरूर करें!

चलिए जिंदगी में संतुलन लेकर आते हैं, और अपने आप को हर तरह से बेहतर बनाते हुए, बहुत सारे कार्य को ऊर्जा के साथ करते चले जाते हैं! 

डॉ. माध्वी बोरसे!

विकासवादी लेखिका!

राजस्थान! (रावतभाटा)

bolti zindagi साहित्य के लिए साहित्य को समर्पित बोलती ज़िंदगी e- Magazine To know more about me Go to Boltizindagi.com

0 Comments

Post a Comment

boltizindagi@gmail.com

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel