अगर आप ईश्वर से थोड़ा डरते होते

 अगर आप ईश्वर से थोड़ा डरते होते 

अगर आप ईश्वर से थोड़ा डरते होते

न करनी पड़े फरियाद हमें 

अगर आप ऐसे होते 


न करनी पड़े नफ़रत हमें 

अगर आप सच्चे होते 


न करनी पड़े कोई कोशिश हमें 

अगर आप मन के पक्के होते 


न करनी पड़े तेरी बाते हमें 

अगर आप ईमानदारी की मूरत होते 


न करनी पड़े बेइज्जती तुम्हारी हमें  

अगर आप सच्चाई का दर्पण होते 


न करनी पड़े जाहिर तेरी कहानी हमें 

अगर आप निभाते सच का किरदार होते 


न करनी पड़े मजबूर दुनिया की नजर हमें  

अगर आप झूठ का बादशाह न होते 


न करनी पड़े बद्दुआ की बौछार हमें  

अगर आप ईश्वर से थोड़ा डरते होते


Dr. Alpa H. Amin

Ahmedabad 

bolti zindagi साहित्य के लिए साहित्य को समर्पित बोलती ज़िंदगी e- Magazine To know more about me Go to Boltizindagi.com

0 Comments

Post a Comment

boltizindagi@gmail.com

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel