Rabindranath Tagore quotes in Hindi

Rabindranath Tagore quotes in Hindi

Rabindranath Tagore quotes in Hindi
रवीन्द्रनाथ टैगोर एक महान कवि, साहित्यकार और दार्शनिक थे। रवींद्रनाथ ठाकुर भारत के ही नहीं वरन एशिया के पहले नोबेल पुरस्कार विजेता है । इनका जन्म कोलकाता में हुवा था । 
  रवींद्रनाथ टैगोर को गुरुदेव के नाम से भी संबोधित किया जाता है । रवींद्रनाथ ठाकुर दो देशों का राष्ट्रगान लिखने वाले एकमात्र कवि भी है उन्होंने भारत का राष्ट्रगान जन गण मन और बांग्लादेश का राष्ट्रगान अमार सोनार बांग्ला लिखा है 

 रवींद्रनाथ ठाकुर को गिनती विश्व के महान कवियों में की जाती है । उनके विचार सदा से ही युवाओं को प्रेरित करते आए है ।
 रवींद्रनाथ टैगोर के विचार आज भी लोगो को प्रेरित करते है । रवींद्रनाथ टैगोर के कुछ महत्वपूर्ण विचार आज हम आपके लिए लाए है । तो शुरू करते हैं रवींद्रनाथ ठाकुर के विचार जो आपकी जिंदगी को नई दिशा दे सकते है 

Rabindranath Tagore quotes| रवीन्द्रनाथ टैगोर के विचार

Rabindranath Tagore quotes with pics
"निर्वाण मोमबत्ती का बुझना नहीं है। यह ज्योति का बुझना है क्योंकि वह दिन आ गया है। " 
-रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"सब कुछ हमारे पास आता है जो हमारा है अगर हम इसे प्राप्त करने की क्षमता बनाते हैं।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics 
"जो पल के भीतर शाश्वत है वह समय में फैलने पर ही उथला हो जाता है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"दोस्ती की गहराई परिचय की लंबाई पर निर्भर नहीं करती है" -रवींद्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics 
"देश के लिए अत्याचार करना देश पर अत्याचार करना है" -रवींद्रनाथ टैगोर
“गर्मियों के आवारा पक्षी मेरी खिड़की पर गाने के लिए आते हैं और उड़ जाते हैं। और पतझड़ के पीले पत्ते, जिनमें कोई गीत नहीं है, फड़फड़ाते हैं और एक आह के साथ वहीं गिर जाते हैं। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"फल का लालच फूल को खो देता है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
“युवा छात्र अपनी किताबों पर सिर झुकाकर बैठता है, और उसका दिमाग युवाओं के सपनों की दुनिया में भटक जाता है; जहां डेस्क पर गद्य घूम रहा है और कविता दिल में छुपी हुई है। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
“महान शांति, उदार वैराग्य, निस्वार्थ प्रेम, निस्वार्थ प्रयास: ये वही हैं जो जीवन में सफलता दिलाते हैं। यदि आप अपने आप में शांति पा सकते हैं और अपने चारों ओर आराम फैला सकते हैं, तो आप एक साम्राज्ञी से अधिक खुश होंगी। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
“पुरुष केवल सोच सकते हैं। महिलाओं के पास बिना सोचे समझे समझने का तरीका होता है। स्त्री को ईश्वर की अपनी कल्पना से बनाया गया था। यार, उसे आकार में हथौड़ा मारना था। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"मजबूत कल्पना कम काल्पनिक है" -रवींद्रनाथ टैगोर
“महिलाओं के स्वभाव में सबसे बड़ा बदलाव प्यार से आता है; मनुष्य में, महत्वाकांक्षा से” - रवींद्रनाथ टैगोर
"पृथ्वी के नीचे की जड़ें शाखाओं को फलदायी बनाने के लिए किसी पुरस्कार का दावा नहीं करती हैं।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"जब आप खाली हों तो किताबें पढ़ें, जब आप न हों तो मन पढ़ें .... लेकिन पढ़ें" - रवींद्रनाथ टैगोर
"कला में, एक व्यक्ति खुद को प्रकट करता है न कि उसकी वस्तुओं को।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"बादल मेरे जीवन में तैरते हुए आते हैं, अब बारिश या तूफान लाने के लिए नहीं, बल्कि मेरे सूर्यास्त आकाश में रंग जोड़ने के लिए।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"क्योंकि मैं इस जीवन से प्यार करता हूं, मुझे पता है कि मुझे मौत से भी प्यार होगा।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"ज्यादातर लोग मानते हैं कि मन एक दर्पण है, कमोबेश सटीक रूप से उनके बाहर की दुनिया को प्रतिबिंबित करता है, इसके विपरीत यह महसूस नहीं करता है कि मन ही सृजन का प्रमुख तत्व है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
 "मैं सोया और सपना देखा कि जीवन एक आनंद था। मैं जागा और देखा कि जीवन सेवा है। मैंने अभिनय किया और देखा, सेवा एक आनंद था।” -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
“देशभक्ति हमारा अंतिम आध्यात्मिक आश्रय नहीं हो सकती; मेरी शरण मानवता है। मैं हीरे की कीमत के लिए कांच नहीं खरीदूंगा, और जब तक मैं जीवित हूं, मैं कभी भी मानवता पर देशभक्ति की जीत नहीं होने दूंगा। " -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"एक बच्चे को अपने सीखने तक सीमित न रखें, क्योंकि वह किसी और समय में पैदा हुआ था।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"यात्री को अपने लिए आने के लिए हर विदेशी दरवाजे पर दस्तक देना पड़ता है, और अंत में अंतरतम मंदिर तक पहुंचने के लिए सभी बाहरी दुनिया से भटकना पड़ता है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"मैं तुम्हारे सितारों की आवाज़ और तुम्हारे पेड़ों की खामोशी को समझता हूँ।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
 "असली दोस्ती प्रतिदीप्ति की तरह होती है, यह तब बेहतर चमकती है जब सब कुछ अंधेरा हो जाता है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"यदि किसी को दिन और रात के बीच के अंतर को थोड़ा-थोड़ा करके भरना पड़े, तो ऐसा करने में अनंत काल लग जाएगा। लेकिन सूरज उगता है और अंधेरा दूर हो जाता है- अनंत दूरी को पार करने के लिए एक पल ही काफी है। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"हम दुनिया को गलत पढ़ते हैं और कहते हैं कि यह हमें धोखा देती है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"ऐसा लगता है कि मैंने आपको अनगिनत रूपों में, अनगिनत बार, जीवन के बाद जीवन में, उम्र के बाद हमेशा के लिए प्यार किया है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"प्यार एक अंतहीन रहस्य है क्योंकि ऐसा कोई उचित कारण नहीं है जो इसे समझा सके।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"भगवान मनुष्य के हाथों से उपहार के रूप में अपने स्वयं के फूल वापस पाने की प्रतीक्षा करता है। " -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"संगीत दो आत्माओं के बीच की अनंतता को भर देता है" -रवींद्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"छोटा ज्ञान एक गिलास में पानी की तरह है:
स्पष्ट, पारदर्शी, शुद्ध।
महान ज्ञान समुद्र में पानी की तरह है:
अंधेरा, रहस्यमय, अभेद्य। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"उसकी पंखुड़ियां तोड़कर आप फूल की सुंदरता नहीं इकट्ठा करते।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"यदि आप रोते हैं क्योंकि सूरज आपके जीवन से बाहर चला गया है, तो आपके आँसू आपको सितारों को देखने से रोकेंगे।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"पुरुष क्रूर हैं, लेकिन मनुष्य दयालु है। " -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"सिर्फ खड़े होकर पानी को देखते रहने से आप समुद्र को पार नहीं कर सकते।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
 "खुश रहना बहुत आसान है, लेकिन सरल रहना बहुत मुश्किल है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"आप कमल के पत्ते के नीचे ओस की बड़ी बूंद हैं,
मैं इसके ऊपर की तरफ छोटा हूं, '
ओस की बूंद ने झील से कहा। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"हर बच्चा यह संदेश लेकर आता है कि ईश्वर अभी मनुष्य से निराश नहीं हुआ है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
“मृत्यु प्रकाश को बुझाना नहीं है; यह केवल दीए को बुझाना है क्योंकि भोर हो गई है।” -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"विश्वास वह पक्षी है जो प्रकाश को महसूस करता है और तब गाता है जब भोर अभी भी अंधेरा है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"पेड़ सुनने वाले स्वर्ग से बात करने के लिए पृथ्वी के अंतहीन प्रयास हैं।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"सौंदर्य बस वास्तविकता है जिसे प्यार की आँखों से देखा जाता है" - रवींद्रनाथ टैगोर
“मेरे प्यारे जीवन, मुझे पता है कि तुम हमेशा के लिए मेरे नहीं हो; लेकिन मुझे प्यार करो भले ही यह इस पल के लिए हो। उसके बाद मैं उस जंगल में गायब हो जाऊँगा जहाँ आपने मुझे फेंका था, मैं फिर किसी से कुछ नहीं माँगूँगा। मुझे कुछ ऐसा दो जो मेरे मरने तक मेरे साथ रहे।” -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"उच्चतम शिक्षा वह है जो हमें न केवल जानकारी देती है बल्कि हमारे जीवन को सभी अस्तित्वों के साथ सद्भाव में बनाती है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
“एक बार हमने सपना देखा कि हम अजनबी थे। हम यह जानने के लिए जागते हैं कि हम एक दूसरे के प्रिय थे। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
“मैंने कई दिन अपने वाद्य यंत्र को स्ट्रिंग और अनस्ट्रिंग करने में बिताए हैं
और जो गीत मैं गाने को आया हूं वह गाया नहीं जाता। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"तारे जुगनू की तरह दिखने से नहीं डरते।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"तितली महीने नहीं बल्कि क्षण गिनती है और उसके पास पर्याप्त समय होता है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
“जब तुम आए तो तुम रोए और हर कोई खुशी से मुस्कुराया; जब तुम जाओ मुस्कुराओ और दुनिया को तुम्हारे लिए रोने दो। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"मेरे विचार आपके पास आने दें, जब मैं चला जाऊंगा, जैसे सूर्यास्त के बाद तारों वाली चुप्पी के किनारे।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
“अपने जीवन को हल्के से किनारों पर नाचने दो
समय पत्ते की नोक पर ओस की तरह होता है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"प्यार का उपहार दिया नहीं जा सकता, यह स्वीकार किए जाने की प्रतीक्षा करता है।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"मुझे अपना दीपक जलाने दो", सितारा कहता है, "और कभी बहस न करें कि क्या यह अंधेरे को दूर करने में मदद करेगा" - रवींद्रनाथ टैगोर
"मेरी ये कागज़ की नावें घंटों की लहरों पर नाचने के लिए हैं, और किसी मंजिल तक नहीं पहुँचती हैं।" -रवीन्द्रनाथ टैगोर
 हर सपने के लिए गहरा सपना देखें, लक्ष्य से पहले। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
“हम हर कदम पर अनंत को पार करते हैं;
हम हर सेकंड में अनंत काल से मिलते हैं। -रवीन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore quotes with pics
"सपने कभी बंदी नहीं बनाए जा सकते हैं." -रवीन्द्रनाथ टैगोर
"यदि आप सभी त्रुटियों के लिए अपना दरवाजा बंद कर देते हैं तो सच्चाई बंद हो जाएगी।" - रवींद्रनाथ टैगोर
Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url