श्रद्धांजलि-नंदिनी लहेजा

श्रद्धांजलि

नम हैं हिंदुस्तान आज ,
जो खोया वीर सपूत।
जीवन साथी संग उनके,
जाबांज़ वीर भी, क्षति हुई अभूत।
इक ज़लज़ला आया ऐसा,
क्षणभर में सब हुआ समाप्त।
भारत माँ हृदय  हुआ विचलित हैं,
सह ना पा रही यह आघात।
देश के मस्तक के गौरव वे,
भारत भूमि के थे सेनापति।
भरे ह्रदय से विनम्र श्रद्धांजलि,
दे रहा हर भारतवासी।

नंदिनी लहेजा
रायपुर(छत्तीसगढ़)
स्वरचित मौलिक अप्रकाशित

Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url