June 2022

देश में हिंसक होते युवा आंदोलन

देश में हिंसक होते युवा आंदोलन सत्यवान 'सौरभ',  ( हरियाणा, उत्तर प्रदेश और बिहार में भारी बेरोजगारी होने के साथ सरकारी नौकरियों की ...

bolti zindagi 30 Jun, 2022

सुर का जादू

सुर का जादू Jayshree Birmi  एक शहर में चूहों का आतंक बहुत बढ़ गया था।घर,खेत और खलिहानों में खाद्य सामग्री को खा तो जाते थे और खाने से ज्याद...

bolti zindagi 29 Jun, 2022

गलतफहमी

गलतफहमी! Dr. Madhvi borse  गलतफहमी में ना जी इंसान, जीवन कभी भी हो जाएगा वीरान, खुदगर्जी में दूसरों को तकलीफ ना पहुंचा, साफ रख अपना ईमान! क...

bolti zindagi 29 Jun, 2022

आय प्रमाण पत्र

आय प्रमाण पत्र उदय राज वर्मा  आम तौर पर देखा जाए तो आय प्रमाण पत्र का उपयोग सरकारी सेवाओं का लाभ उठाने या सरकारी सहायता पाने के लिए होता है...

bolti zindagi 29 Jun, 2022

भारत का विश्व को दिशा दिखाने का हौंसला

भारत का विश्व को दिशा दिखाने का हौंसला एडवोकेट किशन समनमुखदास भावनानी आओ हौंसला सूरज से सीखें, रोज़ ढलके भी हर दिन नई उम्मीद से निकलता है  ...

bolti zindagi 29 Jun, 2022

वन्य जीवों और पेड़ों के लिए अपनी जान पर खेलता बिश्नोई समाज

वन्य जीवों और पेड़ों के लिए अपनी जान पर खेलता बिश्नोई समाज सत्यवान 'सौरभ',  (राजस्थान के बिश्नोई समाज की महिलाएं हिरण के बच्चों को ब...

bolti zindagi 29 Jun, 2022

खिलौनों की दुनिया के वो मिट्टी के घर याद आते हैं।

खिलौनों की दुनिया के वो मिट्टी के घर याद आते हैं।                     -प्रियंका 'सौरभ' प्रियंका 'सौरभ' सदियों से मिटटी के घ...

bolti zindagi 29 Jun, 2022

आओ भारतीय भाषाओं को विलुप्त होने से बचाएं

आओ भारतीय भाषाओं को विलुप्त होने से बचाएं एडवोकेट किशन सनमुखदास भावनानी भारतीय भाषाओं का वैज्ञानिक और तकनीकी संरक्षण जरूरी- भाषा यह संचार क...

bolti zindagi 29 Jun, 2022

फायदे का सौदा

फायदे का सौदा जयश्री बिरमी जैसे ही मीना तैयार होने जा रही थी तो उसके छोटे से भतीजे ने पूछ लिया,” बुआ कहां जा रही हो?” तभी उसकी भाभी नेहा ने...

bolti zindagi 29 Jun, 2022

अबाॅर्शन महिलाओं का निजी फैसला होना चाहिए

"अबाॅर्शन महिलाओं का निजी फैसला होना चाहिए" भावना ठाकर 'भावु' बेंगलोर आज की महिलाओं को हर कोई आज़ाद और स्वच्छंद विचरण करन...

bolti zindagi 29 Jun, 2022

महंगी होती खाद से खेती करना मुश्किल

महंगी होती खाद से खेती करना मुश्किल प्रियंका सौरभ  -प्रियंका 'सौरभ' उत्पादन बढ़ाने के लिए उर्वरक खेतों की उर्वरता बनाए रखने में बहु...

bolti zindagi 29 Jun, 2022

वृद्धाश्रम की वेदना

"वृद्धाश्रम की वेदना" सिसकती है कई ज़िंदगीयां उस दोज़ख के भीतर एक गुमनाम सी उम्र ढ़ोते, सुलगती है ममता और वात्सल्य पिता का ज़ार-ज...

bolti zindagi 27 Jun, 2022

14 वां ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2022

आओ मिलकर मानवीय जीवन को सुगम बनाएं  14 वां ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2022 ब्रिक्स देशों के आपसी सहयोग से अनेक क्षेत्रों में नागरिकों को सीधा लाभ ...

bolti zindagi 27 Jun, 2022

नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ़ अंतर्राष्ट्रीय दिवस 26 जून 2022 पर विशेष

नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ़ अंतर्राष्ट्रीय दिवस 26 जून 2022 पर विशेष  नशीली दवाओं के दुरुपयोग को रोकने सामुदायिक सहायत...

bolti zindagi 27 Jun, 2022

घर के बुजुर्ग उपेक्षित क्यों!

घर के बुजुर्ग उपेक्षित क्यों! ये घर घर की कहानी हैं जो हरदम हम देख रहें हैं।लेकिन जिम्मेवार कौन,ये प्रश्न हैं तो, हम खुद ही हैं जिम्मेवार आ...

bolti zindagi 27 Jun, 2022

ज्यादा सोचना बंद करते हैं!

ज्यादा सोचना बंद करते हैं! हम सभी चीजों के बारे में अपने दिमाग में बहुत गहरे उतारते हैं, और हम सभी ने खुद को "क्या-अगर" के कभी न ख...

bolti zindagi 27 Jun, 2022

अधिक कार्य कैसे करें!

अधिक कार्य कैसे करें! कभी-कभी, हम चाहते हैं कि दिन में और घंटे हों। दुर्भाग्य से, हम समय को नियंत्रित नहीं कर सकते। हम जो नियंत्रित कर सकते...

bolti zindagi 27 Jun, 2022

गुरूजी आओ

गुरूजी आओ कब आओगे, ले गुरु अवतार, पूछे संसार।। है हर पल, गुरु बिन उदास, तेरी है प्यास ? रूठता नहीं, बहारों में है यहीं, रहते कहीं।। तेरी याद...

bolti zindagi 27 Jun, 2022

क्यों नारी को हीन बनाया बनाया गया!

क्यों नारी को हीन बनाया बनाया गया! Jayshree birmi जिस देश में नारी आदि काल से ही पूजी जा रही हैं उसी देश में नारी का सम्मान का हनन,मानसिक और...

bolti zindagi 24 Jun, 2022

"अब तो सोच बदलो"

"अब तो सोच बदलो" भावना ठाकर 'भावु' बेंगलोर आज हम 21वीं सदी की दहलीज़ पर खड़े है औरतों ने अपनी अठारहवीं सदी वाली छवि बदलकर ...

bolti zindagi 24 Jun, 2022

हृदय में सत्कार रखें!

हृदय में सत्कार रखें! डॉ. माध्वी बोरसे! एक बार की बात है, दूर एक रेगिस्तान में, एक गुलाब था जिसे अपने सुंदरता पर बहुत अभिमान था।  उसकी एकमा...

bolti zindagi 24 Jun, 2022

तुम्हारा असर है इस कदर

तुम्हारा असर है इस कदर जितेन्द्र 'कबीर' प्रफुल्लित मन मदमस्त होकर बादलों के रथ पर सवार आकाश चूमता है, सुकून की शीतल हवाएं अन्तर्मन ...

bolti zindagi 24 Jun, 2022