July 2021

shiv ke gun gaun by jayshree birmi ahamdabad

शिव के गुण गाउं हर हर भोले बिन तेरे दुनियां डोले तु योगी, तू नृत्यकार तूही है संगीतज्ञ। तू ने ही रचा हैं योग को तूने ही उसी का ध्यान लगाया ह...

bolti zindagi 31 Jul, 2021

tumhare raste se zindagi aabad by priya singh lucknow

तुम्हारे रास्ते से ज़िन्दगी आबाद बाबूजी। तुम्हारे रास्ते से ज़िन्दगी आबाद बाबूजी। इसी दर्जा मिरी करते रहें इमदाद बाबूजी।। मिरे जीवन में उन का...

bolti zindagi 31 Jul, 2021

laghukatha kutte by dr shailendra srivastava

कुत्ते (लघु कथा ) नगर भ्रमण कर गण राजा अपने राजभवन मे लौटे औऱ बग्घी राज्यांगन में छोड़कर शयनकक्ष मे चले गये । रात्रि को अचानक वर्षा होने लगी...

bolti zindagi 31 Jul, 2021

aatmkatha by dr shailendra srivastava

आत्मकथा मेरठ यूनीवर्सिटी में रिसर्च के लिए टापिक का चुनाव तथा स्नाफिसेस खुद शोधार्थी को तैयार करना होता है । इस स्नाफिसेस को ...

bolti zindagi 31 Jul, 2021

mitrata by nandini laheja raipur chhattisgarh

मित्रता जन्म लेकर मानव इस सृष्टि में ,अनेकों रिश्ते पाता है कई जन्म,कोई रक्त तो कोई धर्म के रिश्तों से जुड़ जाता है इन सब रिश्तों के अलावा, ह...

bolti zindagi 31 Jul, 2021

Ek aurat ho tum kavita by Rajesh shukla

कविता एक औरत हो तुम महकती हो तुम बहकती हो तुम दहकती हो तुम सिसकती हो तुम । एक औरत हो तुम तुममें हर खूबियां भूलकर सारे सुख सारी मजबूरियां । घ...

Cp 31 Jul, 2021

Premchandra ki jayanti vishesh by Sudhir Srivastava

जयंती पर विशेष      मुंशी प्रेमचंद लमही बनारस में 31जुलाई 1880 को जन्में अजायबराय आनंदी देवी सुत प्रेम चंद। धनपतराय नाम था उनका लेखन का नाम...

Cp 31 Jul, 2021

Jivan jeene ki kala by Anita Sharma

जीवन जीने की कला! मानव जीवन ईश्वर प्रदत्त उपहार है ।      कितनी लहरें उठती गिरती जीवन में।           सीखना है जीवन जीने की कला । संघर्षों स...

Cp 31 Jul, 2021

Lekh man ki hariyali by sudhir Srivastava

लेख मन की हरियाली, लाए खुशहाली     बहुत खूबसूरत विचार है ।हमारे का मन की हरियाली अर्थात प्रसन्नता, संतोष और स्वस्थ, सार्थक पवित्र विचारधारा...

Cp 31 Jul, 2021

Sochte bahut ho kavita by Sudhir Srivastava

सोचते बहुत हो शायद तुम्हें अहसास नहीं है कि तुम सोचते बहुत हो, इसीलिए तुम्हें पता ही नहीं है कि इतना सोचने के बाद किसी मंजिल पर पहुँचते ही ...

Cp 31 Jul, 2021

Pyar ke rang by Indu kumari

शीर्षक- प्यार के रंग सावन की पहली फुहार प्रकृति में  फैले    हैं हौले- हौले मंद बयार प्यार के रंग घोले हैं सुहावनी- सी काली घटा इधर- उधर ही...

Cp 31 Jul, 2021

Mansik shanti ke upay by Jitendra Kabir

मानसिक शांति के उपाय मानसिक शांति के लिए करके देखें यह कुछ एक उपाय, समय दें उस शख्स को जो है अपने पास में, जो नहीं अपने पास उसको सोचते रहने...

Cp 31 Jul, 2021

misail man kalam by Sudhir Srivastava

मिसाइल मैन कलाम 15 अक्टूबर 1931को जन्में   रामेश्वरम, तमिलनाडु के गरीब मुस्लिम परिवार में कलाम धरा पर आये। गरीबी की छाँव में अनेकों कष्ट सहक...

Cp 31 Jul, 2021

Bhukhe ke hisse ki roti by Jitendra Kabir

भूखे के हिस्से की रोटी मैं देखता हूं बहुत बार अपनी छोटी सी बिटिया को खाना खाते हुए, साथ में अपनी प्यारी गुड़िया को भी खिलाने की कोशिश करते ...

Cp 31 Jul, 2021

Maa kavita by poonam udaychandra

"माँ" आज देखा है चेहरा अपनी  माँ का मैंने।  उभरती लकीरों और आंखों का गहना।।  मुश्किल बड़ी रास्ते छोटे, उसका स्त्री होना।  उसके खा...

Cp 31 Jul, 2021

Na ho dushmani agar by Jitendra Kabir

न हो दुश्मनी अगर न हो दुश्मनी दो देशों के बीच अगर तो कई नेताओं और दलों की राजनीति में दाल न गले, जनता को हमेशा इक-दूजे के खिलाफ भड़काते रहक...

Cp 31 Jul, 2021

Vijay divash kavita by Sudhir Srivastava

विजय दिवस बहुत गर्व है हमें अपने जाँबाजों,रणबांकुरों पर जिनके हृदय में हिंदुस्तान बसता है, जिनका हौसला चट्टान सा शरीर फौलाद सा आत्मविश्वास ...

Cp 31 Jul, 2021

Sawan aur shiv kavita by Dr Indu kumari

सावन और शिव पहला सावन और सोमवार बरसती है शिव का प्यार रिमझिम- रिमझिम हो फुहार भक्ति की बहती बयार        बोल बम की नारों से       होती धरा ग...

Cp 31 Jul, 2021

Lekh by kishan sanmukh das bhavnani

सत्य वह दौलत है जिसे पहले खर्च करो, जिंदगी भर आनंद पाओ- झूठ वह कर्ज़ है, क्षणिक सुख पाओ जिंदगी भर चुकाते रहो  सच्चाई की राह, सुखद जीवन के ल...

Cp 31 Jul, 2021

Pyar tumse bahut chahti thi by antima singh

शीर्षक-  प्यार तुमसे बहुत चाहती थी। प्यार तुमसे तुम्हारा बहुत चाहती थी, बोलो ना..ये क्या मैं गलत चाहती थी........? माना, खूबसूरत नहीं अप्सर...

Cp 31 Jul, 2021

mitti ka chulha by deepak sharma

मिट्टी का चूल्हा         1 जब आया था मेरे घर में उज्ज्वला योजना के तहत गैस सिलेंडर और चूल्हा तब हमने भी देखा था आधुनिक भारत के विकास का सपन...

Cp 31 Jul, 2021

Aadhunik bhagwan kavita by Jitendra Kabir

आधुनिक भगवान पौराणिक किस्से-कहानियों में पढ़ा-सुना था - भगवान सत्य बोलने वालों की परीक्षा कड़ी लिया करते थे, तो देखो जब सत्यनिष्ठ किसी इंसा...

Cp 31 Jul, 2021

Satringi sapne kavita by indu kumari

शीर्षक- सतरंगी सपने   सतरंगी सपने सजाओ मेरे लाल दिखा दुनिया को करके कमाल अनवरत रूप से करो प्रयास मंजिल मिलेगी रखो विश्वास गगन चूमेगी सफलता ...

Cp 31 Jul, 2021

Aashkti me nasht huaa kul by Anita Sharma

आसक्ति में नष्ट हुआ कुल, आसक्ति में नष्ट हुआ कुल, हाँ कौरवों का नाश हुआ। ** नहीं ग़लत दुर्योधन भ्राता थे, गलत संस्कार-परवरिश थी। ** धृतराष्ट...

Cp 31 Jul, 2021

kaikayi manthara kavita by Anita Sharma

कैकयी-मंथरा" राम को राम बनाने की खातिर, कैकयी-मंथरा ने दोष सहा। राम यदि अवतारी पुरुष थे तो, कैकयी-मंथरा क्या साधारण थी?       नहीं वे ...

Cp 31 Jul, 2021

Chahte hai hukmran by Jitendra kabir

चाहते हैं हुक्मरान चाहते हैं हुक्मरान  ऐसी व्यवस्था बनाएं, जैसा सरकार कहे  सारे मान जाएं, एक यंत्र की तरह  बिना प्रश्न उठाए, आंखों वाले अंध...

Cp 31 Jul, 2021

Guru bin gyan kavita by sudhir srivastava

गुरु बिन ज्ञान हमारे देश में गुरु शिष्य परंपरा की नींव सदियों पूर्व से स्थापित है। इस व्यवस्था के बिना  ज्ञान और ज्ञानार्जन की हर व्यवस्था ...

Cp 31 Jul, 2021

Kitne dukhi honge wo by Jitendra Kabir

कितने दुखी होंगे वो तुम दुखी हो कि इन सर्दियों में महंगी ब्रांडेड रजाई नहीं खरीद पाए, जिन्हें मयस्सर नहीं कड़कती सर्दी में शरीर पर एक अदद क...

Cp 31 Jul, 2021

Prathna me badi shakti hai by Anita Sharma

प्रार्थना में बड़ी शक्ति है   प्रार्थना में बड़ी शक्ति है , विश्वास ईश पर अटल हो। * समर्पित तन-मन पूर्ण हो, हर कार्य समर्पित हरि चरणों में।...

Cp 31 Jul, 2021

Kisan kavita by Indu kumari bihar

शीर्षक- किसान युगों से आज तक मरते आए हैं किसान जान रहे सारे जहान कड़ी मेहनत के बल पर मिट्टी से अन्न उपजाते हैं उपजाऊ हो या बंजर धरती फसलें ...

Cp 31 Jul, 2021

peedhiyon ka antar by Jitendra Kabir

पीढ़ियों का अंतर बच्चे! वर्तमान में जीना  चाहते हैं अपने बाल मन के कारण, इसलिए मौका मिलता है जब भी निकल लेते हैं अपने बाल-सखाओं के साथ मस्त...

Cp 31 Jul, 2021

Devtavon ke guru brihaspati by Anup Kumar Varma

शीर्षक - " देवताओं के गुरु बृहस्पति"  जो अंधेरे से उजाले की ओर ले जाए,  वही तो हम सबका गुरु कहलाए। ज्ञान पाकर हम अच्छे नागरिक बन ज...

Cp 25 Jul, 2021

janmdin jeevanyatra by Maynuddin Kohri

जन्मदिन ---- जीवनयात्रा  आजादी के बाद के काले बादल छट जाने के बाद देश मे अमन चैन,गणतन्त्र भारत की सुखद छत्र छाया में 25 जुलाई 1950 को ऐसी मा...

bolti zindagi 25 Jul, 2021

Guru govind dono khade kako lagu paye by jayshri birmi

गुरु गोविंद दोनो खड़े काको लागू पाए अपने देश में गुरु का स्थान भगवान से भी ऊंचा कहा गया है। गुरु की भक्ति करी जाती थी।अर्जुन से भी एकलव्य क...

bolti zindagi 23 Jul, 2021

chal chod ye aadat hai koi khta nhi by shashi suman up

शीर्षक चल छोड़, ये आदत है, कोई खता नहीं l तेरे फ़िक्र में हैं हम और तुझे पता नहीं l चल छोड़, ये आदत हैं, कोई ख़ता नहीं l कभी कसमें और कभी वा...

bolti zindagi 23 Jul, 2021

abhilasha poem by abhilekha ambasth gazipur

अभिलाषा अधरों पे मुस्कान लिए, शहरों में अब गांव मिले, मधुर वाणी की सरगम में, शहरों में अब गांव पले, चहुं ओर हो हरितिमा, हर ओर हो सुहावना,...

bolti zindagi 23 Jul, 2021

zindagi ka wada by Abhilekha Ambasth Gazipur

शीर्षक- जिंदगी का वादा कहीं कम तो कहीं ज्यादा, बस यही है जिंदगी का वादा,  कहीं धूप कहीं छाया,  बस यही जिंदगी का फ़साना,  कहीं रुप तो कहीं ...

bolti zindagi 23 Jul, 2021

shabdo ki chot by samay singh jaul delhi

*शब्दों की चोट* शब्दों की चोट जब पड़ती है। चित्त में चेतना की चिंगारी निकलती है।। जैसे बसंत में भी पलास के फूलों में, धू- धू आग धधकती है।...

bolti zindagi 23 Jul, 2021

Gazal hum tumhare hue tum hamare hue by antima singh

शीर्षक- हम तुम्हारे हुए, तुम हमारे हुए दिल की दरिया को दिल में उतारे हुए, हम तुम्हारे हुए तुम हमारे हुए। मौज बन हम किनारे से टकरा गयें, दिल ...

bolti zindagi 23 Jul, 2021

Anant path by madhushri maharashtra

अनंत पथ ओ पथिक अनंत पथ के छोड़ उठ चल कुछ न अपना जो भी था तेरा नही उद्भ्रांत जग का था सपना अब न तेरा ठाँव कोई ना ही कोई गांव है । आभासी चंद्रि...

bolti zindagi 23 Jul, 2021

Naari gulami ka ek prateek ghunghat pratha by arvind kalma

नारी गुलामी का एक प्रतीक घूंघट प्रथा भारत में मुगलों के जमाने से घूँघट प्रथा का प्रदर्शन ज्यादा बढ़ा क्योंकि मुस्लिम शासक महिलाओं को देखकर उन...

bolti zindagi 23 Jul, 2021

idhar awaze bahut hai by prem prakash uttrakhand

इधर आवाजें बहुत हैं ------- चलते-फिरते उठते-बैठते खाते-पीते सोते-जागते अंदर-बाहर ऊपर-नीचे इधर-उधर शायद बसासत है इन्सान रहते होंगे। क्यों......

bolti zindagi 23 Jul, 2021

OTT OVER THE TOP Entertainment ka naya platform

ओटीटी (ओवर-द-टॉप):- एंटरटेनमेंट का नया प्लेटफॉर्म ओवर-द-टॉप (ओटीटी) मीडिया सेवा ऑनलाइन सामग्री प्रदाता है जो स्ट्रीमिंग मीडिया को एक स्टैं...

bolti zindagi 23 Jul, 2021